बंगाल के फ्लाईओवर पर घिरी योगी सरकार

बंगाल के फ्लाईओवर पर घिरी योगी सरकार


उत्तर प्रदेश सरकार उस वक़्त घेरे में आ गई जब अंग्रेजी अखबार ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में प्रकाशित विज्ञापन को लेकर सवाल खड़े होने शुरू हो । इसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ बंगाल के विकास की तस्वीरें लगा दी गई हैं। अब सोशल मीडिया पर इसको लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और इंडियन एक्सप्रेस को लोग ट्रोल कर रहे हैं।

इस विज्ञापन को लेकर तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस समेत कई विपक्ष के नेताओं ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी तस्वीर शेयर करते हुए कहा, ‘ऐसा विकास न सुना होगा न देखा होगा। कलकत्ता का फ्लाईओवर खींचकर लखनऊ ले आए हमारे CM आदित्यनाथ जी। भले ही विज्ञापन में ले आए लेकिन लाए तो।’

तृणमूल का तंज
टीएमसी के नेता मुकुल रॉय ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘श्री नरेंद्र मोदी अपनी पार्टी को बचाने के लिए इतने लाचार हैं कि सीएम बदलने के अलावा उन्हें विकास और बुनियादी ढांचे की तस्वीरों का भी सहारा लेना पड़ा है।’

सपा ने कसा तंज
समाजवादी पार्टी ने भी उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। लिखा, ‘मुख्यमंत्री के झूठ की फिर खुल गई पोल! विज्ञापनों में जनता का पैसा पानी की तरह बहाने वालों के पास दिखाने के लिए अपना किया कोई काम नहीं, तो कोलकाता में हुए निर्माण की तस्वीर छाप कर जनता को कर रहे गुमराह, शर्मनाक! यह है झूठ बोलने में नंबर 1 भाजपा सरकार। जिसके “दिन है बचे चार”!’

मानी गलती, हटाई तस्वीर
इंडियन एक्सप्रेस में रविवार को प्रकाशित उत्तर प्रदेश सरकार के इस विज्ञापन में योगी आदित्यनाथ की बड़ी सी फोटो है। उनके साथ अलग-अलग इंडस्ट्री, ऊंची इमारतें और फ्लाईओवर की तस्वीर भी लगाई गई है। ये फ्लाईओवर की तस्वीर कोलकाता की है। इसी को लेकर हंगामा शुरू हो गया। विवाद बढ़ा तो इंडियन एक्सप्रेस ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करके खुद की गलती स्वीकार की। ये भी बताया कि विज्ञापन विभाग की गलती के चलते ऐसा हुआ है और अब इस विज्ञापन को डिजिटल प्लेटफार्म से हटा दिया गया है।