• indianews86@gmail.com
  • ghaziabad, uttar pradesh

सस्ती और फ्री शराब खरीदने वाले सलाखों के पीछे मांग रहे माफी

प्रमोद शर्मा @ गाजियाबाद। दिल्ली की सस्ती और फ्री की शराब के चक्कर में सैकड़ों व्यक्तियों को अब जेल की हवा खाना पड़ रही है। अगर देखा जाए तो मुख्य रुप से पकड़े गए व्यक्ति सिर्फ सस्ती और फ्री शराब लेने के लिए दिल्ली जा रहे थे। जिला आबकारी विभाग ने पिछले 2 माह के भीतर कड़ी कार्रवाई की है।

इसके अलावा लग्जरी कार समेत छोटे-बड़े 54 वाहनों को जब्त कर करीब 15 हजार लीटर शराब भी बरामद की गई है। रंगे-हाथों पकड़े गए लोगों को सस्ती शराब तो नसीब नहीं हो सकी, मगर गले में बड़ी मुसीबत जरूर आ पड़ी। 100-200 एवं 500 रुपए की बचत की लालसा में उन्हें महंगी गाडिय़ां तक जब्त करानी पड़ी हैं।

जेब में बंद आरोपी निश्चित रूप से अब अपने किए पर पछता रहे होंगे। शराब तस्करी में पकड़े गए लोगों को आसानी से जमानत न मिल पाए, इसके लिए भी आबकारी विभाग ने पूरा जोर लगा रखा है। यानी दिल्ली की शराब का शौक बेहद भारी पड़ा है। दिल्ली में पिछले काफी समय से शराब के दाम काफी कम हैं। इसके अलावा पूर्व में वहां एक बोतल खरीदने पर एक बोतल मुफ्त में मिलने का ऑफर चल रहा था। इसके चलते गाजियाबाद में शराब के शौकीनों ने दिल्ली का रूख करने में दिलचस्पी दिखाई थी।

हालाकि आबकारी विभाग अवैध शराब की गाजियाबाद में आमद रोकने को पूरी तैयारी के साथ बैठा था। विभाग ने दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर ऐसी घेराबंदी शुरू की कि वह शराब के शौकीनों पर काफी भारी पड़ गई। आबकारी विभाग की टीमें संदिग्ध व्यक्तियों एवं वाहनों की सघन चेकिंग करने के साथ-साथ कानूनी कार्रवाई भी कर रही हैं। आबकारी विभाग ने पिछले दो माह मई और जून में ताबड़-तोड़ कार्रवाई कर दिल्ली से गाजियाबाद में शराब की आमद रोकने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। इस कार्रवाई की वजह से शराब तस्करों के साथ-साथ शराब के शौकीनों की भी मुश्किलें बढ़ी हैं। आबकारी विभाग ने पिछले दो माह में दिल्ली से शराब लाने के आरोप में 117 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

यह वह लोग हैं, जो दिल्ली की सस्ती और मुफ्त की शराब की लालसा में बुरी तरह फंस गए हैं। शराब तस्करी से इन लोगों का कोई लेना-देना नहीं था, मगर चंद रुपयों की बचत की लालसा उन्हें भारी पड़ गई। इस अवधि में आबकारी विभाग ने शराब लाने में इस्तेमाल किए गए 54 वाहनों को भी जब्त किया है। जिनमें लग्जरी कार, ऑटो, बाइक, स्कूटी, स्कूटी इत्यादि वाहन शामिल हैं। उन लोगों को ज्यादा टेंशन हुई है, जिनके लग्जरी वाहन भी जब्त हो गए। चूंकि कई लाख रुपए कीमत के वाहन अब पुलिस कस्टडी में हैं। आबकारी विभाग ने मई और जून माह में 15 हजार 353.41 लीटर शराब भी बरामद की है।

दिल्ली की अवैध शराब का परिवहन रोकने के लिए निरंतर

जिला आबकारी अधिकारी राकेश कुमार सिंह का कहना है कि गाजियाबाद में दिल्ली की अवैध शराब का परिवहन रोकने के लिए निरंतर प्रयास चल रहे हैं। सघन चेकिंग अभियान और छापेमारी में काफी कामयाबी मिली है। दो माह में 117 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। जेल भेजे गए व्यक्तियों से बरामद 15 हजार 353.41 लीटर शराब की कीमत करीब 65 लाख रुपए है। इस कार्रवाई से उन लोगों को सबक लेने की जरूरत है जो अभी भी दिल्ली से सस्ती और मुफ्त की शराब को चोरी-चुपके लाने की मंशा पाले बैठे हैं। किसी भी सूरत में दिल्ली से अवैध तरीके से शराब लाने नहीं दी जाएगी। इसके अलावा दिल्ली समेत हरियाणा, अरुणांचल, पंजाब, हिमाचल प्रदेश की शराब लाने वाले माफियाओं पर निगरानी रखने के लिए हाईवे, दिल्ली बोर्डर पर आबकारी विभाग की टीम 24 घंटे सक्रिय है।