• indianews86@gmail.com
  • ghaziabad, uttar pradesh

फर्जी लोन ऐप से रहें सतर्क, साइबर अपराध के प्रति जागरूक रहें सुरक्षित रहें

ऑनलाइन लोन लेना चाहते हैं तो रहे सावधान, निजी जानकारी किसी से भी शेयर ना करें: भारती डबास, एडिशनल एसपी

झज्जर: ऑन लाइन लोन लेना आपको भरी पड़ सकता है फर्जी लोन ऐप के लिंक पर Allow करने पर कांटेक्ट नंबर के साथ सभी डाटा का एक्सेस जालसाज ठग के पास चला जाता है। शुरुआत में एक मोबाइल एप्लीकेशन 2000 से लेकर 10000 रु का लोन बहुत कम समय के लिए देते हैं। जब लोन चुका दिया जाता है तो फेक लोन ऐप कांटेक्ट नंबर और रिश्तेदारों के नंबर पर कॉल करके गाली गलौज या अपशब्द कहते हैं। अश्लील बात कर पैसा डालने के लिए धमकाया जाता है। पैसा नहीं मिलने पर रिश्तेदारों को परेशान करने की बात कहते है।

                  उन्होंने बताया कि फेक लोन ऐप्स से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि कभी भी लुभावने ऑफर में ना आए। कभी भी अनजान लोन एप्लीकेशन लिंक पर क्लिक ना करें। इसके अलावा गूगल प्ले स्टोर पर जाकर यह जरूर सुनिश्चित करें कि वह एप्लीकेशन रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और एनबीएफसी द्वारा अप्रूव गाइडलाइन को फॉलो करती है या नहीं। यदि तमाम बातों का ध्यान रखेंगे तो कभी भी फ्रॉड नहीं होगा। कभी भी ऐसी एप्लीकेशन को इंस्टॉल ना करें जिसके बारे में पूर्ण जानकारी ना हो। यदि कोई मोबाइल एप्लीकेशन गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद नहीं है तो ऐसी एप्लीकेशन को कभी भी इंस्टॉल ना करें। अन्यथा आपका फोन hack हो सकता है और आपके डाटा के चोरी होने की सम्भावना भी बढ़ जाती हैं।

इसलिए सबसे पहले यदि कोई ऐसा ऐप आपके फोन में मौजूद है जिसे आप इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं तो उसे तुरंत अनइनस्टॉल कर दें। कई बार एसएमएस के माध्यम से लिंक्स आते रहते हैं तो ऐसे में किसी भी लिंक पर क्लिक नहीं करना है। और ना ही ऐसे लिंक पर क्लिक करना है जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लोग शेयर कर रहे हैं। ऐसे में कई बार कुछ ऐसी मोबाइल एप्लीकेशन इंस्टॉल हो जाती है जो आपके फोन के बैकग्राउंड में चलती रहती है और आपके डाटा को शेयर करती रहती है। इसलिए कभी भी अननोन लिंक पर क्लिक ना करें।

कई बार कुछ लोगों के पास फोन कॉल के माध्यम से लोन लेने के लिए लुभावने ऑफर दिए जाते हैं। यदि ऐसे कोई कॉल आए तो आप अपनी पर्सनल जानकारी कभी भी शेयर ना करें। इससे आपके नाम पर कई सारे लोन चल सकते हैं। वर्तमान समय में  आधार कार्ड और पैन कार्ड का इस्तेमाल करके लोन लिया जा सकता है। इसलिए अपनी पर्सनल जानकारी कभी भी किसी भी फोन कॉल पर शेयर ना करें। यदि ऐसी कॉल आए तो उसे ब्लॉक कर दे। अगर ऑनलाइन लोन आवेदन कर रहे हैं तो ऐसे में आप गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद ऐप के अबाउट सेक्शन में जाकर उस ऐप के बारे में सभी जानकारी ध्यानपूर्वक पढ़ें। यदि लगे कि वह एप्लीकेशन फ्रॉड है तो ऐसे एप्लीकेशन को कभी भी अपने मोबाइल में इंस्टॉल ना करें।

लोन एप्लीकेशन को डाउनलोड करने वाले कंपनी का नाम अवश्य देखें और उसके बारे में जानकारी जरूर ले। अगर कोई फेक डेवलपर होगा तो उसके बारे में आपको जानकारी नहीं मिलेगी। इसलिए एप डेवलपमेंट सेक्शन को अवश्य देखें। लोन एप्लीकेशन की परमिशन को अवश्य देखें। यदि कोई एप्लीकेशन कांटेक्ट लिस्ट, माइक्रोफोन, कैमरा,सिक्योरिटी इत्यादि अन्य जानकारी ले रहा है तो उसके बारे में सतर्क हो जाऐं। क्योंकि कई बार कुछ लोन एप्लीकेशन आपके कांटेक्ट नंबर पर कॉल करके परेशान कर देती है।

इसलिए ऐप्स की परमिशन भी ध्यान पूर्वक पढ़ कर दें। फेक लोन की कंप्लेंट करने के लिए आरबीआई की वेबसाइट पर जाकर रिपोर्ट सेक्शन पर क्लिक करके उस लोन कंपनी की कंप्लेंट कर सकते हैं जो आपको परेशान कर रही है।इसके अलावा उस लोन एनबीएफसी के खिलाफ एफआईआर भी कराई जा सकती है। यदि कोई लोन एप्लीकेशन डराते धमकाते या फिर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करती है तो ऐसे में आप क्राइम ब्रांच को जानकारी दे सकते हैं।

गूगल प्ले स्टोर पर रिपोर्ट करके भी उन्हें एप्लीकेशन को आप गूगल प्ले स्टोर से हटा सकते हैं। इसके अलावा राष्ट्रीय पोर्टल https://cybercrime.gov.in व साईबर हेल्पलाईन न. 1930 पर अपनी शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।